शनिवार, 24 अक्तूबर 2009

कल के क्रिकेट मैच में भारतीय टीम से कितनी उम्‍मीद रखी जाए ??

क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है। इस क्षेत्र के विशेषज्ञों द्वारा टीम की तैयारी और क्रिकेट के पीच को ध्यान में रखते हुए भी समय-समय पर क्रिकेट मैच के बारे में भविष्यवाणियॉ की जाती हैं , परंतु संभावना और सत्यता में तालमेल का प्रतिशत बहुत कम ही देखा गया है। संभावनावाद की दृष्टि से बिना किसी आधार के भी किसी एक घटना में हार और जीत में से एक परिणाम को चुनने की भविष्यवाणी में सही और गलत की संभावना 50-50 प्रतिशत होती है। लेकिन जब घटनाओं की संख्‍या बढायी जाती है , तो कोई आधार न होने की सूरत में संभावनाओं की सत्‍यता का प्रतिशत घटता चला जाता है। किन्तु किसी आधार को लेकर घटनाओं की संख्‍या के बढने के बाद भी भविष्यवाणी की सत्यता को 50 प्रतिशत से बढ़ाते हुए 60-70-80-90 प्रतिशत तक भी ले जाया जा सके , तो उस आधार को प्रमाण मिलने में बाधा नहीं आनी चाहिए। 'गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष' के द्वारा भी ग्रहों की स्थिति के आधार पर क्रिकेट मैच की जीत और हार के बारे में भविष्‍यवाणियों की सटीकता को बनाए रखने का प्रयत्‍न किया जाता रहा है।

आस्‍ट्रेलिया की टीम सात एकदिवसीय मैचों की शृंखला को खेलने भारत पहुंच गयी है। 25 अक्‍तूबर से ही खेल शुरू हो जाएंगे। ग्रहीय आधार पर किसी भी मैच के बारे में भविष्यवाणी कर पाने में कुछ समस्याएं तो अवश्य आती हैं , क्योंकि जहॉ एक ओर दोनो टीम के सभी सदस्यों का जन्म-विवरण हमारे पास मौजूद नहीं होता , वहीं दूसरी ओर जिस शहर में मैच हो रहा है , वहॉ के आक्षांस और देशांतर रेखाओं से ग्रहों के तालमेल में भी कठिनाई आतीं हैं। फिर भी कुछ वर्षों से हमारे द्वारा क्रिकेट मैच से संबंधित जो शोध किए गए है , उसके आधार पर क्रिकेट मैच के दिन की ग्रहीय स्थिति का उस दिन के क्रिकेट पर पड़नेवाले प्रभाव का विश्लेषण किया जाएगा। इस बार की ग्रहस्थिति भारतीय टीम के बिल्‍कुल भी अनुकूल नहीं है।

25 अक्‍तूबर को बडोदरा के रिलायंस स्‍टेडियम में होने वाले शृंखला के पहले मैच के दिन ही ग्रहों की स्थिति भारतीय क्रिकेट टीम के पक्ष में नहीं दिख रही है। इसलिए 'गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष' के हिसाब से जो बडी संभावना बन रही है , उसके अनुसार शुरूआती दिन ही भारत को झटका देनेवाला होगा। वैसे इस दिन बिल्‍कुल शुरूआत का समय यानि 3 बजे के बाद के दो घंटे भारत के पक्ष में दिखते हैं , इसे इस नजर से ही देखा जा सकता है कि इस दो घंटे मे टीम को अच्‍छे खेलने का भ्रम बना रहेगा। क्‍यूंकि इसके बाद फिर अनुकूल ग्रहीय स्थिति पूरे मैच के दौरान नहीं बनेगी और 8 बजे के बाद ही ऐसी प्रतिकूल ग्रहस्थिति बन जाएगी कि मैच समाप्‍त होने की समय सीमा के दो घंटे पहले से ही हार निश्चित दिखाई पडने लगेगी।

चूंकि हम भारतीय हैं , इसलिए यदि अपने इस प्रतिकूल ग्रहस्थिति को भी सकारात्‍मक रूप से देखें, तो बिल्‍कुल शुरूआत का समय यानि 3 बजे के बाद के जो दो घंटे भारत के पक्ष में दिखते हैं , उस समय बल्‍लेबाजी या गेंदबाजी , जिसका भी मौका मिले , यदि भारत बहुत अच्‍छा खेल ले और अपनी स्थिति को काफी मजबूत बना ले , तो जीत की संभावना बन सकती है , लेकिन इसके लिए 8 बजे से 10 बजे रात्रि तक की प्रतिकूल ग्रहीय स्थिति में बिल्‍कुल रक्षात्‍मक खेलते हुए आगे बढना होगा और 10 बजे के बाद अपनी जीत पक्‍की करने की दिशा में कदम बढाने पडेंगे। वैसे इसकी संभावना बहुत ही कम दिखाई पडती है, पर इसके लिए भी हम सब प्रार्थना करें , तो इसमें हर्ज ही क्‍या है ?

अपडेट ... मुझे इस लिंकमें 14:30 IST से मैच के शुरू होने की गलत सूचना मिली थी , क्‍यूंकि मैच 09:00AM से ही शुरू हो चुका है , इसलिए इस आलेख में लिखी गयी बातों को सटीक न माना जाए । समय में परिवर्तन होने के कारण इस मैच की हार जीत को एक अलग कोण से देखना पडेगा।

16 टिप्‍पणियां:

Pandit Kishore Ji ने कहा…

sangeeta puri ji ko pandit kishore ghildiyal ka namaskaar.
ek jyotishi hone ke kaaran main yah awashya kah sakta hoon ki aapne jo is match ki bhavishyavaani ki hain vo satpratishat sahi hain kal bharat agar pehle khele to jitega nahi to haar nischit hain ank jyotish se bhi yahi lag rah hain.
zara is par bhi naar mariyega
http/jyotishkishore.blogspot.com

Vivek Rastogi ने कहा…

अब यह तो कल ही पता चलेगा, भले ही कुछ भी कह लें हम तो तब भी यही आखिरी क्षण तक चाहेंगे कि भारत जीत जाये।

वन्दना ने कहा…

AB TO MATCH KA HI INTZAAR HAI ........DEKHTE HAIN KYA HOTA HAI.........VAISE HAMESHA KI TARAH CHAHTE TO YAHI HAIN KI BHARAT HI JEETE.

महफूज़ अली ने कहा…

hmmm..... acchcha laga padh kar..... hum to jeet ki hi kaamna karte hain....

राज भाटिय़ा ने कहा…

जब हारे तो कोई बडी बात नही, जीतता है तो हेरानगी होती है कि निक्म्मे जीत केसे गये

Udan Tashtari ने कहा…

प्रार्थना करें ...

ज्ञानदत्त पाण्डेय| Gyandutt Pandey ने कहा…

देखा जाये क्या होता है!

योगेन्द्र मौदगिल ने कहा…

देखते हैं जी....

अल्पना वर्मा ने कहा…

हार की संभावनाएं अधिक हैं.

Popular India ने कहा…

अपडेट ... मुझे इस लिंकमें 14:30 IST से मैच के शुरू होने की गलत सूचना मिली थी , क्‍यूंकि मैच 09:00AM से ही शुरू हो चुका है , इसलिए इस आलेख में लिखी गयी बातों को सटीक न माना जाए । समय में परिवर्तन होने के कारण इस मैच की हार जीत को एक अलग कोण से देखना पडेगा।
----------
Ab us link par sahi jankari hai.
Galat jankari ke kaaran kisi bhi prakar ke bhawishyavani ke satyata par prabhav padega hi atah aasha karta hun ki log is baat ko samajhte hue is bhawishyavani ke satyata par vivad nahin kareinge.

aapka
mahesh

vinay ने कहा…

वैसे तो मुझे क्रिकेट खेलने और देखने का शौक रहा है,पर जब से I.P.L प्रारम्भ हुआ है,तब से मेरी रुचि क्रिकेट में समाप्त हो गयी है,अब किसी प्रकार का मैच हो देखने का मन नहीं करता,लेकिन अब देखते हैं,कोन जीतता है,अधिकतर आप की भविष्यवाणी सही निकलती हैं ।

Dr. Mahesh Sinha ने कहा…

समय का फेर जरूर हुआ लेकिन भविष्यवाणी सही निकली आज

संगीता पुरी ने कहा…

महेश सिन्‍हा जी ,
तिथि से तो हारने की बात तय थी .. पर जैसा कि मैने लेख में लिखा था .. 3 से 5 बजे तक का समय भारत के लिए जितना अनुकूल था .. 8 बजे से 10 बजे रात्रि का समय उतना ही प्रतिकूल .. इसलिए मैच के समय के परिवर्तन से अंत अंत में इतनी रिकवरी हुई .. हार उतनी दुखद नहीं रही .. 8 बजे रात्रि के बाद फैसले के होने से बहुत बडी हार नजर आ रही थी।

Pandit Kishore Ji ने कहा…

bahut bahut badhaiya aapka va hamara vishleshan jo ki is match ko lekar kiya gaya tha bilkul sahi raha
bahut bahut shubhkamnaaye

pankaj vyas ने कहा…

paden
प्रवीण जाखड़ जी और संगीतापुरी जी तो बहाना है, मुझे तो कुछ कर गुजरना है ...3

अर्शिया ने कहा…

हारे या जीते, आपकी बातें दोनो तरह से सच होंगी।
वैज्ञानिक दृष्टिकोण अपनाएं, राष्ट्र को प्रगति पथ पर ले जाएं।