क्‍या रेमिंगटन कीबोर्ड पर टाइपिंग करने में आपको परेशानी होती है ??

अपने कंप्‍यूटर में Baraha IMEया Hindi Indic IME.को लोड करने और हिन्‍दी सक्रिय करने के बाद मुख्‍य समस्‍या हिन्‍दी में टाइप करने की आती है। इस समस्‍या का कोई समाधान न दिखने से अधिकांश लोगों को फोनेटिक कीबोर्ड का सहारा लेना पडता है , जिसके द्वारा रोमण में ही लिखने से उसे हिन्‍दी में कन्‍वर्ट किया जा सकता है। लेकिन आप यदि डायरेक्‍ट हिन्‍दी में ही लिखना चाहते हों , तो आपको रेमिंगटन कीबोर्ड पर टाइपिंग कर सकते हैं। अंग्रेजी कैरेक्‍टरों को देखकर हिन्‍दी में टाइपिंग करना बहुत ही आसान है। चाहे जो भी कारण हो , एक महीने के अंदर मैं जितनी आसानी से हिन्‍दी टाइपिंग करने लगी , शायद अंग्रेजी में संभव नहीं थी।

कीबोर्ड की पहली पंक्ति में सामान्‍य तौर पर ये सारे टाइप होते हैं ......
`  1  2  3 4 5  6  7 8  9  0 -  =   (NORMAL)
यदि कीबोर्ड की इस पहली पंक्ति की हिन्‍दी में टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं
़ 1  2  3  4  5 6  7 8  9  0  ; ृ   (NORMAL)  शिफ्ट के साथ कीबोर्ड की पहली पंक्ति में सामान्‍य तौर पर ये सारे टाइप होते हैं ......
यदि शिफ्ट के साथ कीबोर्ड की इस पहली पंक्ति की हिन्‍दी में टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं .....
~  !  @  #  $  %  ^  &  *  ( )  _  + (WITH SHIFT) द्य  ।  / :  *   -  ‘  ‘ द्ध  त्र  ऋ  .  ् (WITH SHIFT)
जबकि दूसरी पंक्ति में हिन्‍दी में टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं .....
उसके नीचे यानि दूसरी पंक्ति में सामान्‍य तौर पर ये सारे टाइप  किए जाते हैं ...... q  w  e  r  t  y  u I  o p  [ ]  \ (NORMAL) ु  ू म  त  ज  ल  न  प  व  च  ख्‍  ,  (NORMAL)
Q  W  E  R  T  Y  U  I  O  P  {  }   (WITH SHIFT)
पर यदि  उसी दूसरी लाइन की शिफ्ट के साथ टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं ....

पर उसी दूसरी लाइन की शिफ्ट के साथ हिन्‍दी में टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं .....
फ   ॅ   म्‍    त्‍   ज्‍   ल्‍   न्‍   प्‍   व्‍   च्‍   क्ष्‍   द्व   )     (WITH SHIFT)

तीसरी पंक्ति में सामान्‍य तौर पर ये सारे टाइप होते हैं ......
a    s    d    f    g    h    j    k    l    ;     ‘           (NORMAL)

जबकि उस तीसरी पंक्ति में हिन्‍दी में टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं .....
ं   े    क    ि‍   ह   ी     र ा     स   य    श्‍                (NORMAL)

अब यदि इसी तीसरी पंक्ति को शिफ्ट के साथ टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं .....
 A    S    D    F    G    H    J    K    L    :    “      (WITH SHIFT)

पर उसी तीसरी पंक्ति को शिफ्ट के साथ हिन्‍दी में टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं .....
 ा  ै  क्‍    थ्‍    ळ    भ्‍    श्र   ज्ञ   स्‍    रू     ष्‍              (WITH SHIFT)

अंतिम पंक्ति में सामान्‍य तौर पर ये सारे टाइप होते हैं .....
z      x     c     v     b     n     m     ,     .     /    (NORMAL)

यदि कीबोर्ड की इस अंतिम पंक्ति की हिन्‍दी में टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं .....
्र  ग    ब    अ     इ    द      उ    ए    ण्‍    ध्‍          (NORMAL)

शिफ्ट के साथ कीबोर्ड की पहली पंक्ति में सामान्‍य तौर पर ये सारे टाइप होते हैं ......
 Z    X    C    V    B    N    M    <    >    ?     (WITH SHIFT)

पर उसी तीसरी पंक्ति को शिफ्ट के साथ हिन्‍दी में टाइपिंग की जाए तो ये सारे टाइप होते हैं .....
 र्    ग्‍     ब्‍     ट     ठ   छ     ड     ढ   झ    घ्‍         (WITH SHIFT)

हिन्‍दी में मुख्‍य शब्‍दों की टाइपिंग के लिए मैने ये कई शब्‍दों को याद रखा ....
मई , तर , जट , लवाई , न्‍यू , पाई , वओ ,चप , फक्‍यू , कडी , हजी ,रजे ,सएल , गक्‍स ,बसी , अटवी , इठबी ,दछन , डउम

इन शब्‍दों को याद कर लेने से शुरूआती दौर में बार बार कागज देखने से बचा जा सकता है। आधा या पूरा जो भी 'म' टाइप करना हो, मई मतलब 'E' बटन, इसी तरह पूरा या आधा 'त' के लिए 'R' बटन पूरा या आधा 'ज' के लिए 'T' बटन। इसी तरह 'अ' या 'ट' टाइप करना हो , तो 'V' तथा 'इ' और 'ठ' टाइप करना हो , तो 'B' बटन का सहारा लिया जा सकता है। ऐसा करने से बहुत आसानी हो जाती है। ा का बटन , ु और ू , ि‍ और ी  तथा े और ै के बटन की स्थिति इतनी अच्‍छी जगह पर है कि इन्‍हें याद रख लेना तो बहुत आसान है ही। अब इतने बटनों को जानने के बाद टाइपिंग के दौरान कभी कभार ही नए शब्‍द आएंगे , जिसके लिए आप उपरोक्‍त कागज की एक प्रिंट बनाकर रखें रहें। दो चार दिनों के प्रैक्टिस से सारे बटन का आइडिया होना ही है। देखा रेमिंगटन में टाइपिंग कितनी आसान हो गयी ।


-----------------------------------------------------
चंद्र-राशि, सूर्य-राशि या लग्न-राशि से नहीं, 
जन्मकालीन सभी ग्रहों और आसमान में अभी चल रहे ग्रहों के तालमेल से 
खास आपके लिए तैयार किये गए दैनिक और वार्षिक भविष्यफल के लिए 
Search Gatyatmak Jyotish in playstore, Download our app, SignUp & Login
------------------------------------------------------
अपने मोबाइल पर गत्यात्मक ज्योतिष को इनस्टॉल करने के लिए आप इस लिंक पर भी जा सकते हैं ---------
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.gatyatmakjyotish

नोट - जल्दी करें, दिसंबर 2020 तक के लिए निःशुल्क सदस्यता की अवधि लगभग समाप्त होनेवाली है।

Previous
Next Post »

18 comments

Click here for comments
ajit gupta
admin
10/26/2009 06:15:00 pm ×

संगीता जी
बहुत मेहनत से पोस्‍ट तैयार की है, बधाई। लेकिन हम तो रेमिंगटन पर ही टाइप कर लेते है। बहुत पुरानी आदत है।

Reply
avatar
10/26/2009 07:38:00 pm ×

आप की बात से सहमत हुं, पहले पहल मुश्किल होती थी अब तो नही... धन्यवाद

Reply
avatar
10/26/2009 07:51:00 pm ×

बेहतरीन संगीता जी। इंडिक टूल डालने के लिए अब तो नुक्‍कड़ पर स्‍नैपशाट के साथ पूरी एक पोस्‍ट मौजूद है। उससे भी इंडिक टूल इंस्‍टालेशन संबंधी सब जानकारी सभी ले सकते हैं http://nukkadh.blogspot.com/2009/09/blog-post_22.html

Reply
avatar
10/26/2009 07:52:00 pm ×

धन्यवाद इस काम की जानकारी के लिए.........
अच्छा लगा

Reply
avatar
10/26/2009 09:07:00 pm ×

अविनाश वाचस्‍पति जी ,
मैने आपके दिए लिंक को भी इस पोस्‍ट में डाल दिया है !!

Reply
avatar
10/26/2009 09:29:00 pm ×

एक और जानकारीपरक पोस्ट।

आभार

बी एस पाबला

Reply
avatar
10/26/2009 11:19:00 pm ×

एक मेहनती पोस्ट...

Reply
avatar
M VERMA
admin
10/27/2009 05:18:00 am ×

मुश्किले जब हल हो गयी तो समाधान आया.
अब तो आदत हो गयी है
बहुत अच्छी पोस्ट उपयोगी भी

Reply
avatar
10/27/2009 08:48:00 am ×

बहुत बढ़िया जानकारी दी है आपने।
पहले मैं इसी का प्रयोग करता था, मगर इसे यूनिकोड में बदलना पड़ता था।
अब यूनिकोड की-बोर्ड याद कर लिया है तो सीधे ही
लाइव राइटर का इस्तेमाल करता हूँ।
अब यूनिकोड से ही टाइप करके टिप्पणी करता हूँ और इसी से पोस्ट भी लगाता हूँ।
आभार!

Reply
avatar
10/27/2009 08:53:00 am ×

वाह ये तो बहुत अच्छी जानकारी दी आपने कोशिश करते हैं धन्यवाद्

Reply
avatar
10/27/2009 09:13:00 am ×

हम तो बाराह यूनिकोड से लिखते हैं बहुत आसान है। बहुत मेहनत से ये पोस्ट लिखी है आपने, मील का पत्थर साबित होगी।

Reply
avatar
pankaj vyas
admin
10/27/2009 12:11:00 pm ×

labhaprada jankari...

Reply
avatar
10/27/2009 02:27:00 pm ×

अच्छी प्रस्तुति संगीताजी |मैं कभी की बोर्ड से हिंदी टाइप नहीं कर पाया शब्द धुन्धने का समय नहीं है आपने इस आलसी मुरारी के लिए इतनी मेहनत की धन्यवाद में कॉपी करके रख रहा हूँ !!

Reply
avatar
10/27/2009 03:03:00 pm ×

धन्यवाद संगीताजी ...आपने बहुत बड़ी मुश्किल आसान कर दी ...!!

Reply
avatar
PD
admin
10/27/2009 03:33:00 pm ×

सच्ची बात कहूं तो मुझे जो भी हिंदी में टाईपिंग आती है वो भी इस पोस्ट को पढ़ने के बाद भूलने का दावा करता हूं.. (मजाक कर रहा हूं सो मजाक में ही लें..) :)

बहुत बढ़िया लेख.. वैसे मुझे भी इस तरह की टाईपिंग आती है.. :)

Reply
avatar
vinay
admin
10/27/2009 05:00:00 pm ×

अच्छी जानकारी देती हुई पोस्ट,मै तो बारह का उपयोग करता हूँ,बहुत मेहनत की आपने ।

Reply
avatar
10/27/2009 09:45:00 pm ×

. मैं भी अब यूनिकोड ही इस्तेमाल करती हूँ पर अच्छी जानकारी है ।

Reply
avatar
4/22/2014 03:22:00 pm ×

टाईपिंग इंस्टीट्यूट में टाइपिंग सीखाने में इसी का उपयोग किया जाता है। टाईप राइटर भी इसी तरह का होता है। मैं सीखा भी हूँ और कर भी लेता हूँ। पर अब नेट पर या फेसबूक में लिखने में रोमन हिन्दी से ही देवनागरी लिखता हूँ।

Reply
avatar