कोरोना लॉक डाउन में आसानी से बनाये खाये ------

Easy to cook food items in corona lock down



चीन के वुहान शहर निकला कोरोना वायरस भले ही चीन के दूसरे शहरों तक नहीं पहुँचा, पर पूरे विश्व के लिए तबाही का मंजर लेकर आया है। उनके अनुभवों से फायदा लेते हुए हमारे प्रधान-मंत्री ने कोरोना को हराने के लिए पूरे देश में 21 दिनों लॉक डाउन कर दिया है। जैसे भी रहना है, घर में ही रहना है, तभी कोरोना वायरस के दैत्य से पूरे देश को छुटकारा मिल सकता है। अचानक अनाउंस किये गए इस वक्तव्य से सबको असुविधा होनी स्वाभाविक है। गरीबों को काम मिलना बंद, पैसों की कमी हो गयी है, वैसे स्वयंसेवी संगठन भी जोर-शोर से काम में लगे हैं। काम करने वाली सहायिकाएँ नहीं आ रही, बच्चे स्कूल नहीं जा रहे, पतिदेव को वर्क फ्रॉम होम मिला हुआ है। सबका ख्याल भी रखना है, बीमारी के कारण अतिरिक्त सफाई भी रखनी है, महिलाओं को दिनभर काम करना पड़ रहा है। इस समय हर परिवार में पुरुष महिलाओं के सहयोगी के रूप में उभरें है, हर काम में मदद कर रहे हैं, ताकि पत्नी को सहायिकाओं की कमी न खले। जिनके पास व्यवस्था है, कुल मिलाकर उनकी स्थिति अच्छी है। पर सरकार ने भले ही आश्वस्त किया है कि वे खाने-पीने की वस्तुओं की कमी नहीं होने देंगे, फिर भी सबलोग अंदाज से ही खाना बनाएँ ताकि अन्न की बर्वादी न हो। पिकनिक मनाने का समय नहीं है अभी।

Fast Easy food to cook 


सबसे बुरी स्थिति पूरे देश में जहाँ तहाँ घर में अकेले रहने वाले बूढ़े, घर से हाल-फिलहाल निकले विद्यार्थी, 10-12 घंटे ऑफिस का काम करनेवाले युवक-युवतियों की हैं, जो घर के काम के लिए पूर्ण तौर पर सहायिकाओं पर ही निर्भर थे। सहायिकाओं की अनुपस्थिति में उन्हें होटल से खाना मंगवाना पड़ता था, जो अभी बंद चल रहे हैं। उन्हें तकलीफ तो हो रही होगी, पर दिन तो काटने ही होंगे। यदि 21 दिनों में सब ठीक-ठाक हो गया तो बढ़िया, यदि नहीं हुआ तो लॉक-डाउन बढ़ाया भी जा सकता है। इसलिए बेहतर होगा कि वे कुछ भी पकाकर, उबालकर, तलकर खाना सीख लें। साथ ही अपने शरीर, कपडे, घर को साफ़-सुथरा बनाये रखने की अतिरिक्त जिम्मेदारी है, अभी खाने में बिलकुल कामचलाऊ और जरूरी सामान ही बनाये। यदि अभी आप सिर्फ जीने के लिए खाएंगे, जो आपके स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होगा और आपको घर से कम से कम निकलना होगा। अभी के हालत में यह बहुत आवश्यक है, कोरोना से जंग में जीत के बाद हम फिर खाने के लिए जी सकते हैं। उनके लिए ही यह पोस्ट लिखने की जरूरत महसूस हुई।

Easy to cook for vacation 

मैगी, पैकेट के बने-बनाये सामान और फ़ास्ट फ़ूड के चक्कर में न पड़े, स्वस्थ रहने के लिए अनाज पकाकर खाएं :-------- 



easy to cook food items in corona lock down


  1. प्रत्येक घर में कुकर होता ही है, 100 ग्राम चावल में 200 ग्राम पानी डालकर 1 सिटी लगाने से एक व्यक्ति के खाने का चावल बन जाता है। चावल धोकर डालें, प्रेशर खुद से निकलने दे और चावल निकालकर खाएं। 
  2. मीठा पसंद करने वाले लोग इसे भी दूध-चीनी के साथ ( यदि घर तक दूधवाला आ रहा हो या दूध के पैकेट मंगवा पा रहे हों, तो खौलते दूध में इसे चीनी के साथ डालें ) थोड़ी देर बाद खाएं। 
  3. नमकीन पसंद करनेवाले दूध का दही जमाकर या दही के पैकेट मंगवाकर हल्का नमक लेकर इसे खा सकते हैं।  
  4. यदि दूध दही नहीं हो, तो एक बड़ी कलछी या कटोरे में घी गरम करें, कड़ाही का भी उपयोग कर सकते हैं। घी गर्म होने के बाद आँच बंद करें और उसमे पहले से छीलकर रखा हुआ लहसुन, आधे चम्मच नमक और एक चौथाई चम्मच हल्दी डालें। लहसुन लाल हो जायेगा, यदि न हो तो बस एक मिनट के लिए आंच ऑन करें। लहसुन पसंद करने वाले इसे चावल में डालकर बड़े शौक से खाते हैं। 
  5. यदि लहसुन न पसंद हो तो उसे निकाल दे सिर्फ घी, नमक, हल्दी चावल में डालकर खाएं। 
  6. यदि सूखा सूखा चावल आपके गले में अंटकता है तो आप चावल बनाते वक्त चावल के दुगुने की जगह तीनगुना पानी डाल दें । एक व्यक्ति के लिए पानी 200 ग्राम ही रखें, चावल 100 की जगह 70 ग्राम लें। पेट खराब होने पर जो चावल आपको दिया जाता था, एक सिटी में वही चावल बन जायेगा। ये भी दही के साथ खाया जाता है। 
  7. इसमें स्वाद की कमी दिख रही हो तो कढ़ाही में कोई दाल भूनकर रख लें। कुकर बराबर मात्रा में 100 ग्राम धुले दाल-चावल, 400 ग्राम पानी डालकर एक सिटी लगा ले। अचार, पापड़ के साथ यह खिचड़ी खा सकते हैं। एक व्यक्ति के लिए मात्रा मैंने इसलिए बताई है कि सामान बर्वाद न हो, एक बार खाना घटने बढ़ने के हिसाब से आप थोड़ा अंतर कर सकते हैं। 
  8. जिनको चावल खाने की मनाही हो, वे बराबर मात्रा में 100 ग्राम भुना दाल-दलिया, 400 ग्राम पानी डालकर एक सिटी लगा ले। अचार, पापड़ के साथ यह दलिया खा सकते हैं। 
  9. चावल के साथ दाल बनाने के लिए भी पानी की उतनी ही मात्रा लेनी है, जितनी आपने चावल के लिए ली थी, यानी 100 ग्राम या थोड़ा कम, लेकिन चावल की तरह दाल पानी का आधा नहीं, 1/5 लेना है। कूकर में पानी, धोयी हुई दाल, छोटी चम्मच नमक और एक चौथाई चम्मच हल्दी डालें। एक सिटी लगाने के बाद 5 मिनट सिम पर रखें। प्रेशर ख़त्म होने पर दूसरे बर्तन में ढाल लें और चावल चढ़ा लें। 
  10. चावल-दाल के साथ आप आलू को उबालकर मैश करके नमक-तेल डालकर खाएँ। एक कलछी या कड़ाही में तेल गर्म करके ऑफ कर लें। लालमिर्च, जीरा तेल में डालें और लाल होने पर तेल सहित इस छौंक को थोड़ा दाल और थोड़ा मैश आलू में डाले। 
  11. आलू को मैश करके खाने की इच्छा न हो, तो उबले आलू को 8-10 भाग में काटकर कड़ाही में तेल गर्मकर मिर्च, जीरा डालें और कटे आलू में नमक-हल्दी डालकर थोड़ा भूनकर खाएं। 
  12. थोड़ा आलू छीलना, प्याज काटना भी जानते हों तो ऊपर के खाने को और अच्छा बनाया जा सकता है। चावल को धोकर छन्नी में छान लें, कूकर में तेल या घी डालकर थोड़ा जीरा तड़काएं , एक प्याज-मिर्च को काटकर डालें, मध्यम आंच में थोड़ा भुने, लाल न होने दें, एक छिले आलू के 8-10 टुकड़े डालकर आधे चम्मच नमक और एक चौथाई चम्मच साथ डाले, 2-3 मिनट भुने , फिर चावल डालकर थोड़ा भुने , घी हो तो डाल दें, 5 मिनट भूनकर आपके पास कोई मसाले हों तो आधे चम्मच डाल दें। दोगुना पानी डालकर एक सिटी लगा लें। यह फ्राइड राइस आप ऐसे भी खा सकते हैं। 
  13. इसका स्वाद बढ़ाने के लिए यदि टमाटर हो तो उन्हें उबालकर मैश करके नमक, तेल , कटे प्याज, स्वादानुसार मिर्च डालकर नमकीन चटनी बना लें। 
  14. इसी प्रोसेस से आप स्वादिष्ट खिचड़ी बना सकते हैं कूकर में तेल या घी डालकर थोड़ा जीरा तड़काएं , एक प्याज-मिर्च को काटकर डालें , मध्यम आंच में थोड़ा भुने, लाल न होने दें, एक छिले आलू के 8-10 टुकड़े डालकर आधे चम्मच नमक और एक चौथाई चम्मच साथ डाले, 2-3 मिनट भुने , फिर 100 ग्राम दाल-चावल (दोनों बराबर मात्रा में) डालकर थोड़ा भुने, घी हो तो डाल दें, 5 मिनट भूनकर आपके पास कोई मसाले हों तो आधे चम्मच डाल दें। चारगुना पानी डालकर एक सिटी लगा लें। ऐसी खिचड़ी बहुत स्वादिष्ट लगेगी। 
  15. चावल खाना मना हो तो चावल की जगह दाल-दलिया की खिचड़ी भी इसी प्रोसेस से बना सकते हैं। कूकर में तेल या घी डालकर थोड़ा जीरा तड़काएं, एक प्याज-मिर्च को काटकर डालें, माध्यम आंच में थोड़ा भुने, लाल न होने दें, एक छिले आलू के 8-10 टुकड़े डालकर आधे चम्मच नमक और एक चौथाई चम्मच साथ डाले, 2-3 मिनट भुने , फिर 100 ग्राम दाल-दलिया ले डालकर थोड़ा भुने, घी हो तो डाल दें, 5 मिनट भूनकर आपके पास कोई मसाले हों तो आधे चम्मच डाल दें। चारगुना पानी डालकर एक सिटी लगा लें। ये दलिया बहुत स्वादिष्ट लगेगी। 
  16. प्याज हमेशा बोर्ड पर काटें, अदरक कद्दूकस करें, लहसुन और मिर्च कैची से काटे ---- इतना सीख जाएँ तो आप चावल के साथ स्वादिष्ट दाल, तड़का, छोले, राजमा कुछ भी बना सकते हैं। सबकी मात्रा एक व्यक्ति के लिए 50 ग्राम। कुकर चढ़ाये, तेल गर्म होने पर जीरा तड़काएं, एक प्याज, एक मिर्च , थोड़ी लहसुन , थोड़ी अदरक - सारी कटी हुई कूकर में डालें। थोड़ा भूनकर आधे चम्मच मसाले डालें, मसाला भुनने के लिए थोड़ा पानी डालें। एक टमाटर डालें, फिर 1 घंटे भीगा हुआ कोई भी दाल या मिला-जुला दाल डालकर थोड़ा भुने, चारगुना पानी डालें। तेज आंच में एक सिटी लगने के बाद 5 मिनट सिम पर रखें। प्रेशर निकल जाने पर कटोरे में पलट दें और इसी कूकर में ऊपर बताये विधि से चावल बना लें। 
  17. कुकर चढ़ाये, तेल गर्म होने पर जीरा तड़काएं, एक प्याज, एक मिर्च , थोड़ी लहसुन , थोड़ी अदरक - सारी कटी हुई कूकर में डालें। थोड़ा भूनकर आधे चम्मच मसाले डालें, मसाला भुनने के लिए थोड़ा पानी डालें। एक टमाटर डालें, फिर 6 घंटे भीगा हुआ छोले, राजमा, जो भी हो, डालकर थोड़ा भुने, चारगुना पानी डालें। तेज आंच में एक सिटी लगने के बाद 15 मिनट सिम पर रखें। प्रेशर निकालने की भूल न करें। प्रेशर निकल जाने पर कटोरे में पलट दें और इसी कूकर में ऊपर बताये विधि से चावल बना लें। 
  18. कड़ाही में इसी प्रोसेस से आप पोहा, उपमा, दलिया भी बना सकते हैं। सबकी मात्रा एक व्यक्ति के लिए 50 ग्राम। पोहा बनाना हो तो इसे धोकर छन्नी में छाने, कड़ाही चढ़ाये , तेल गर्म होने पर सरसों तड़काएं, एक प्याज, एक मिर्च, थोड़ा अदरक - सारी कटी हुई कड़ाही में डालें। एक टमाटर डालें और भुने, फिर पोहा डालकर सबको मिक्स करें। थोड़ी देर ढंककर छोड़ देने से पोहा तैयार हो जायेगा । 
  19. उपमा बनाना हो तो कड़ाही में सूजी भुनकर निकाले, फिर तेल डालें, गर्म होने पर सरसों तड़काएं, एक प्याज, एक मिर्च, थोड़ा अदरक - सारी कटी हुई कड़ाही में डालें। थोड़ा भूनकर एक टमाटर डालें और भुने, फिर सूजी डालकर सबको मिक्स करें। चारगुना पानी डालकर ढंककर गरम होने तक तेज आंच रखें, फिर 2 मिनट सिम पर छोड़ दें। 
  20. दलिया बनाना हो तो कड़ाही में दलिया भुनकर निकाले , तेल गर्म होने पर जीरा तड़काएं, एक प्याज, एक मिर्च, थोड़ा अदरक - सारी कटी हुई कड़ाही में डालें। एक टमाटर डालें और भुने, फिर दलिया, जो भी हो, डालकर सबको मिक्स करें। छह गुना पानी डालकर ढंककर गरम होने तक तेज आंच रखें, फिर 2 मिनट सिम पर छोड़ दें। 
  21. घर मे दही हो तो 100 ग्राम दही मे दो चम्मच बेसन, एक चम्मच नमक, आधे चम्मच हल्दी मिलाकर रखें, कढ़ाई मे दो चम्मच तेल गर्म करें, एक लाल मिर्च और थोड़ा जीरा डाले, इनके लाल होने पर दही-बेसन-नमक-हल्दी का घोल कड़ाही मे डाल दें. खोलने पर सिम पर करें. 5 मिनट मे ऑफ कर दें. पकौड़ों की जगह आप इसमें बूंदी डाल सकते हैं. 
  22. पुलाव के लिए चावल धोकर छलनी मे रखना है. कढ़ाही मे रिफाइन, रिफाइन मे लौंग-इलाइची-काजू-किशमिश डालकर चावल भून लें . इस चावल को दुगुने पानी के साथ कुकर मे एक सिटी लगा लें. पुलाव बन जायेगा. 
  23. इसके साथ पनीर की सब्जी बनानी हो तो पनीर का कोई भी रेसिपी बनाने से पहले पनीर को जैसे धोते-काटते हो वैसे काट लें। कड़ाही मे रिफाइन्ड डाले , पनीर तलकर निकालकर अलग रखें . जीरा डालकर प्याज छौंक दें, थोड़ा नमक डालकर धीमी आंच मे छोड़ दो, धीमी आंच मे लाल होने तक प्याज गल जाता है. फिर छोटा टमाटर,धनिया-जीरा-मिर्च- नमक-हल्दी डालकर भुने, फिर रस के लिए थोड़ा दूध डालें. ढक्कन थोड़ा खुला रखें , थोड़ा खौलने पर पनीर डाल दें . सब्जी तैयार है। 
  24. जिन्हे रोटी-सब्जी बनानी आती है, उनके लिए तो कोई दिक्कत ही नहीं। 


(मैं यह मानकर चल रही हूँ कि आप सीमित साधनों में रह रहें हैं , यदि नहीं तो चावल, खिचड़ी, दलिया में गोभी मटर, गाजर बीन्स जैसी हरी सब्जियों का उपयोग हो सकता है )



Previous
Next Post »