हैकरों के लिए ऐसे पासवर्डों का तोड निकालना कुछ कठिन होता है !!

इस वर्ष नवरात्र में दस बारह दिनों के लिए गांव चली गयी , चूंकि गांव में मेरे पास कंप्‍यूटर और इंटरनेट की सुविधा नहीं थी , इसलिए इतने दिनों तक अपने जीमेल को लॉगिन भी नहीं कर सकी। आने के बाद जैसे ही काम करना शुरू किया , एलर्ट आने शुरू हुए। मेरा अकाउंट 8 अक्‍तूबर को किसी दूसरे देश से खोला गया था। राहत की बात थी कि किसी को मेल वगैरह नहीं किया गया था। मैने झट से पासवर्ड बदला , पर बदलने के बाद भी मुझे कोई राहत नहीं मिली। 11 अक्‍तूबर को ब्राजील और 13 अक्‍तूबर को टर्की से पुन: इस अकाउंट को खोले जाने की सूचना मिली। इसके बाद मैने अपने पासवर्ड को बहुत मजबूत बनाया , उसमें कैपिटल , स्‍माल अक्षरों और अंकों के साथ संकेत चिन्‍हों का भी प्रयोग किया , यानि कि वैसा ही मजबूत पासवर्ड रखा , जैसा इंटरनेट बैंकिंग में रखने की सलाह दी जाती है ..


पासवर्ड को बदलने के बाद इतने दिन गुजर चुके हैं , अभी तक पुन: ऐसी कोई सूचना नहीं मिली है । शायद हैकरों के लिए ऐसे पासवर्डों का तोड निकालना शायद कुछ कठिन होता हो या फिर उन्‍हें अब मेरे अकाउंट को खोलने की आवश्‍यकता नहीं हो रही हो , पर मुझे तो राहत मिल गयी है। हालांकि ऐसे पासवर्डों को याद रखना लोगों के लिए भी कठिन होता है , पर मेरी सलाह है कि  इंटरनेट का अच्‍छी तरह उपयोग करनेवालों को ऐसी सावधानी बरतनी ही चाहिए , उन्‍हें ऐसे ही पासवर्ड रखने चाहिए , क्‍यूंकि अकाउंट का दुरूपयोग किए जाने के बाद कोई चारा नहीं होता।

हैकरों के लिए ऐसे पासवर्डों का तोड निकालना कुछ कठिन होता है !! हैकरों के लिए ऐसे पासवर्डों का तोड निकालना कुछ कठिन होता है !! Reviewed by संगीता पुरी on अक्तूबर 30, 2011 Rating: 5

27 टिप्‍पणियां:

वाणी गीत ने कहा…

सावधान करती जानकारी !
आभार एवं शुभकामनायें !

केवल राम ने कहा…

सही सलाह .....हम सबके लिए उपयोगी ...!

Unknown ने कहा…

आपकी सलाह बिल्कुल सही है। पासवर्ड में लेटर्स के साथ अंकों तथा कम से कम एक स्पेशल कैरक्टर का होना जरूरी है, हो सके तो एकाध लेटर को भी कैपिटल में रखना चाहिए।

Gyan Dutt Pandey ने कहा…

हैकर देव बहुत सम्माननीय हैं।
हम ड़ाल ड़ाल तो वे पात पात! :)

विवेक रस्तोगी ने कहा…

हैकर के लिये कठिन पासवर्ड तोड़ना मुश्किल हो जाता है।

अभिषेक मिश्र ने कहा…

महत्वपूर्ण जानकारी है. आपका अकाउंट किसी और ने खोला है, इसकी जानकारी आपको कैसे दे दी जाती है ?

संगीता पुरी ने कहा…

@ अभिषेक मिश्र जी
जीमेल खोलने पर नीचे Last account activity: के डिटेल्‍स दिखाई देते हैं .. जिसमें उस अकाउंट के खोले जाने की विस्‍तृत सूचना होती है।

दिलबागसिंह विर्क ने कहा…

महत्वपूर्ण जानकारी
आभार

vandan gupta ने कहा…

उपयोगी जानकारी…………आभार्।

रौशन जसवाल विक्षिप्त ने कहा…

जानकारी के लिए आपका आभार

मनोज कुमार ने कहा…

ये तो बड़ा दुष्टई है।
अब तो बहुत ही सावधानी बरतनी होगी।

कुमार राधारमण ने कहा…

Shayad, kisi satoriye ko yah jaigyasa ho ki aapke scheduled post ya draft men uske karobaar ke bare men to koi bhavishyavani nahin hone ja rahi?

मदन शर्मा ने कहा…

महत्वपूर्ण जानकारी के लिए आपका बहुत आभार
मेरी तरफ से आपको भैयादूज पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ!!!

अनुपमा पाठक ने कहा…

उपयोगी जानकारी!

प्रेम सरोवर ने कहा…

आपका पोस्ट अच्छा लगा । मेर नए पोस्ट पर आपका बेसब्री से इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

Darshan Lal Baweja ने कहा…

सही सलाह .....हम सबके लिए उपयोगी ...!

डॉ. मनोज मिश्र ने कहा…

यह तो राहत वाली बात है और हम सबको सजग करने वाली भी.

डॉ.मीनाक्षी स्वामी Meenakshi Swami ने कहा…

सही सलाह और महत्वपूर्ण जानकारी के लिए आभार।

निर्मला कपिला ने कहा…

उपयोगी जानकारी। धन्यवाद।

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

महत्वपूर्ण जानकारी के लिए आभार

BS Pabla ने कहा…

गूगल ने ऐसी एक अनोखी सुविधा दे रखी है सुरक्षा की दृष्टि से
कि
मैं अगर अपना पासवर्ड भी आपको दे दूँ तो भी मेरे ईमेल खाते में नहीं जा पाएंगी :-)

Jeevan Pushp ने कहा…

संगीता जी नमस्कार
मै आपके ब्लॉग पे पहली बार आया
और एक सही सलाह पाकर बेहद
ख़ुशी हुई मै खुद आईटी और मैनेजमेंट
फिल्ड से हू परन्तु ये सावधानी अभी तक
मैं नहीं बरत पाया
आपका बहुत- बहुत धन्यवाद!
मेरी नई पोस्ट के लिये पधारे
आपका स्वागत है जीवन पुष्प में
www.mknilu.blogspot.com

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल मंगलवार के चर्चा मंच पर भी की गई है!
सूचनार्थ!

चंद्रमौलेश्वर प्रसाद ने कहा…

हमारी पोस्ट हैक कर भी लिया तो क्या होगा... नई पोस्ट बना लेंगे। हम कौन हीरे जवाहरात गाढ रखे हैं यहां जो लूट के ले जाये :)

Rajesh Kumari ने कहा…

bahut sajag harti hui post sabhi ke liye faaydemand.aabhar aapka.

Murari Pareek ने कहा…

sawdhani hati durghtnaa ghati.... bahut achchi chetawani di... aur jaan kaari bhi..

Manish ने कहा…

ऐसा कभी कभी होता है कि अगर आप मोबाइल फोन या gprs के जरिये अपने मेल अकाउंट में लॉग इन होती हैं तो अन्य देशों की ip नजर आती है. ज्यादातर opera mini web browser के केस में ऐसा ज्यादा होता है.

हैकर्स किसी को बचने का मौका नहीं देते.. अगर आपका अकाउंट वास्तव में हैक हुआ है तो आप सिक्योरिटी प्रश्न भी बदल दे. मोबाइल अलर्ट ऑन कर दें... गूगल बहुत सारी सुविधायें देता है. 2-step verification के इस्तेमाल से आपको ज्यादा कठिन पासवर्ड बनाने की जरूरत महसूस नही होगी. तब आपका मोबाइल फोन आपके पासवर्ड के साथ जुड़ जायेगा. बिल्कुल इंटरनेट बैंकिग के वेरीफिकेशन के जैसा...

Blogger द्वारा संचालित.